Plans for Agriculture Development (राजस्थान में कृषि विकास हेतु योजनाएॅ एवं कार्यक्रम)

  1. बेर अनुसंधान केन्द्र एवं खजूर अनुसंधान केन्द्र, (1978 मे स्थापित) बीकानेर। पश्चिमी राजस्थान के लिए हिलावी खजूर की किस्म उपयोगी सिद्ध हुई है। मेंजुल किस्म छुआरा बनाने के लिए उपयोगी है। खजूर वृक्ष का प्रमुख रोग ग्रेफियोला का पत्ती धब्बा रोग है।
  2. केन्द्रीय कृषि अनुसंधान केन्द्र, दुर्गापुरा जयपुर: ( RARI - Rajasthan Agricultral Research Institute ) इसकी स्थापना 1943 में की गई थी। यह वर्तमान SKN कृषि विश्वविद्यालय का संघटक है।
  3. केन्द्रीय कृषि फार्म, सूरतगढ़ (गंगानगर) : यह रूस की सहायता से 15 अगस्त, 1956 को स्थापित किया गया था। यह एशिया का सबसे बड़ा फार्म है। 
  4. केन्द्रीय कृषि फार्म, जैतसर ( गंगानगर ): यह सूरतगढ़ कृषि फार्म के अधिन ही कनाड़ा की सहायता से स्थापित किया गया।
  5. केन्द्रीय शुष्क बागवानी संस्थान, बीछवाल बीकानेर (CIAH -  Central Institute for Arid Horticulture ) : इसकी स्थापना 1993 में की गई।
  6. सरसों अनुसंधान निदेषालय सेवर, भरतपुर : (DRMR - Directorate of Rapseed-Mustard Research) 20 अक्टूबर, 1993 को ICAR द्वारा सेवर, भरतपुर में राष्ट्रीय सरसों अनुसंधान केन्द्र ( NRCRM -  National Research Centre on Rapseed-Mustard ) की स्थापना की गई। फरवरी, 2009 में इसका नाम बदलकर सरसों अनुसंधान निदेषालय (DRMR - Directorate of Rapseed-Mustard Research) कर दिया गया।

Share:

No comments:

Post a Comment

Recent Posts