Rajasthan ke Kisan Andolan (राजस्थान के किसान आन्दोलन)

बिजौलिया किसान आन्दोलन
1. बिजौलिया ठीकाने की स्थापना अशोक परमार ने की थी।
2. 1897 में किसानों ने छोटे स्तर पर आन्दोलन प्रारंभ किया।
3. 1916 में विजयसिंह पथिक ने आन्दोलन का नेतृत्व किया जिससे आन्दोलन में तीव्रता आई।
4. विजय सिंह पथिक का जन्म बुलन्द शहर उत्तर प्रदेश में हुआ। इनका मूल नाम भूपसिंह था।
5. इस आन्दोलन को राजस्थान का प्रथम व सबसे लम्बां चलने वाला अहिंसात्मक आन्दोलन कहा जाता है।
6. इनकी अधिकांश मांगे मान ली गई। रामनारायण चौधरी ने भी इस आंदोलन में भाग लिया था।

बेंगू किसान आन्दोलन
1. इसका नेता रामनारायण चैधरी था।
2. बेंगू मेवाड़ की जागीर थी। रियासत ने किसानों पर विभन्न लाग-बाग कर लगा रखी थी। जिनके विरोध स्वरूप ये आन्दोलन हुआ।
3. इस आन्दोलन में रूपा जी एवं कृपा जी मारे गए।

बूॅंदी किसान आन्दोलन
1. इसका नेता पण्डित नयनू राम शर्मा था।
2. बूॅंदी में किसानों की समस्याओं को लेकर रियासत के विरूद्व आन्दोलन हुआ।
3. यहाॅं पर नानक जी भील शहीद हुए।

नीमूचणा किसान आन्दोलन
1. यह अलवर रियासत में हुआ।
2. 1925 में आन्दोलनकारी किसानों पर गोलियाॅं चलाई गई।
3. महात्मा गाॅंधी ने इसकी तुलना जलियावाला बाग हत्याकांड से की।
Share:

No comments:

Post a Comment

Recent Posts